goal setting in hindi 2020

अपने गोल को कैसे सेट करे ( importance of goal setting in hindi ) –

goal setting in hindi 2020

यह आर्टिकल उनके लिए ज्यादा इम्पोरेन्ट है ! जो अपने किसी भी कम को करते समय Goals को सेट नही कर पाते है ! जिससे उन्हें बहुत सारी दिक्क़ते आती है ! उनके गोल्स कुछ भी हो जैसे – कि पैसे से रिलेटेड, बिज़नेस से रिलेटेड, फिटनेस से रिलेटेड कुछ भी हो सकता है ! या आपको कुछ भी सीखना हो तो यह आर्टिकल आपके लिए बहुत महत्पूर्ण होगा ! चलिए जानते है. goal Setting in hindi  में


What is Goal setting in hindi 2020 गोल सेटिंग का क्या है  –

गोल सेटिंग क्या है ! किसी भी काम को करने के लिए गोल सेट करना उतना ही इम्पोरेन्ट है। जितना बिज़नेस करने के लिए प्लानिंग का ! चलिए इस आर्टिकल में हम 6 importance of goal setting in hind के बारे में जानते है !

Step No 1 – Precise Goal Setting  -:

importance of goal setting in hind

हर इंसान सपने देखता है, और देखता भी है ! लेकिन उनमे से कुछ ही लोग होते है जो अपने उन सपने को पूरा कर पाते है ! क्योकि वह ज्यादातर लोगो की तरह पूरा करने के बजाये की काश एक दिन मे भी अमीर बन जाऊ वह बस ऐसे सपने देखने के बजाये अपने लिए प्रोपर goal set कर नही पाते है ! वह भी एक स्ट्रांग डिजायर के साथ मै आपको एक एक्साम्प्ले देता हूँ ! 

Example –  मै पक्का अमीर बनुँगा At Least  साल के 50 लाख कमाऊंगा Business करके और बिज़नेस मै इंटरनेट पर करूँगा ईकॉमर्स का ऐसे ही वह क्लियर रखते है ! एक्साक्ट्ली क्या करना चाहिए और कितना और क्यों उसी प्रकार बिज़नेस के लिए भी आप बस यह मत सोचो काश मै भी अच्छा बिज़नेस कर पाऊ नही बस wishful thinking  है ! बल्कि इसके बजाये आप यह सोचो की आपको क्यों और कितना बिज़नेस से पैसा कमाना है ! 

अट्लीस्ट आपको इतना तो पैसा कमाना है ! जिससे की आपके जरूरते पूरी हो सके ऐसे आप खुद क्लियर हो जाओगे की वास्तव में आपको क्या करना है ! तो इससे आपके ब्रेन के लिए वह चीज पॉसिबल कर पाना ईजी हो जायेगा ! सबसे मेन रीजन होता है. Precise का वह होता है कन्फूजन और यह Fast Step उन कन्फूजन को दूर करता है !


Step No 2 – Exchange Goal Setting [ बदले में ]  -: 

importance of goal setting in hind
जैसे आप बैठे – बैठै जादू से एनर्जी क्रीट नही कर सकते हो, वैसे ही हर इंसान सोचता है ! की वह बैठे – बैठे अमीर हो जायेंगे ! और उसे
Business करने की skill आ जायेगा। लेकिन ऐसा नही होगा, भीख मांगने के लिए भी भिखारियों को घर के बाहर जाके अट्लीस्ट हाथ उड़ना पड़ता है ! 
इसलिए Second Step में आप डिसाइड करो की आप अपने goals  को पूरा करने के लिए यूनिवर्स को क्या दे सकते हो ! इसके एक्चेंज में कितना टाइम दे सकते हो हर दिन प्रैक्टिस के लिए कितना टाइम बिज़नेस सेमिनार अटेंट कर सकते हो, बिज़नेस सीखने के लिए दूसरो से कितना राय ले सकते हो यह सब डिसाइड करो ! 

अगर आप सोचते हो की रिटर्न में मुझे कुछ मिलेगा ! लेकिन ऐसा कुछ भी नही होगा। इसीलिए आप डिसाइड करो की आप अपने goals  को पूरा करने के लिए एक्चेंज में क्या दे सकते हो ! 

Step no 3 – Time Goal Setting [ टाइम ] 

importance of goal setting in hind
हर इंसान को थोड़ा बहुत
idea तो होता ही है ,कैसे वह अपने सपने के goals को पूरा कर सकता है ! कैसे वह ज्याद मेहनत करके ज्यादा रिजल्ट क्रीट कर सकता है ! ज्यादा प्रैक्टिस करके अपने गोल्स को पूरा कर सकता है ! 

लेकिन ज्यादातर लोग ऐसा करते ही नही क्योकि इसका सबसे बड़ा रीज़न है. आलस  कल करूँगा परसो करूँगा वाली सोच और यही आलस सबसे बड़ा रीज़न है ! की लोग अपने Goals को पूरा नही कर पाते है !

तो इस प्रॉब्लम का सलूशन क्या है ?

एक सलूशन है जो बड़ा ही सिंपल और पावरफुल है ! वह है. डेडलाइन सेट करना अपने आप को टाइम देना क्या मै एक महीने के अंदर इतनी तो Business Skills तो सीखी ही लूंगा की मै वास्तव में बिज़नेस कर सकूंगा ! 

इसीलिए Step 3 अपने आप को Time दो डेडलाइन दो हाँ मै अपने गोल्स को पूरा करूंगा कैसे न कैसे और पूरे जोश के साथ गोल को पूरा करने के लिए लग जाऊँगा ! 


Step 4 – Plan Goal Setting [ प्लान बनाना ]  -: 

importance of goal setting in hind
अब आप एक
Plan बनाओ कैसे आप एक्साक्ट्ली उसे पॉसिबल करोगे ! 
Example  –  अगर अपने डिसाइड कर लिया है. की आपको बिज़नेस करने के लिए सीखना है ! और जिसके लिए आप एक महीने का Time  दोगे अपने आप को तो अब उसको एक्साक्ट्ली कैसे पॉसिबल करोगे इसके लिए आप Plan बनाओ जैसे – कि –
  1. वीडियो देखूंगा जो मुझे बिज़नेस से रिलेटेड सिखाएंगे ! 
  2. मै सबसे कॉमन Question के बारे में सीखूंगा जो बिज़नेस करते समय दिक्क्त आती है !
  3. और फिर उनके Answer को लिखूंगा एक बुक्स में और उस Answer को सीखने की कोशिश करूँगा ! 
  4. फिर फ्रेंड्स या अपने फॅमिली के साथ उसके बारे में डिसकस करूँगा 

 

और ऐसे ही आप Step by Step Plan बनाओ ऐसा नही है कि आपका Plan Perfect हो बस जरुरी है कि जल्दी से जल्दी स्टार्ट करो अपने goals पर काम करना ! आपके plans आपके Action लेने में आपकी हेल्प करेगा जिसके बिना कुछ भी होना इम्पॉसिबल है ! 

Step 5 – Write Goal Setting [ लिखना ] –

importance of goal setting in hind
जब कोई इंसान बड़ा
Business करता है, या कोई डील करता है. तो क्लियर करता है कि हर वह चीज पेपर पर लिखता है ! वह भी सिगनेचर के साथ वैसे आप भी जब कोई चीज डिसाइड कर रहे हो Step 1 से लेकर Step 4 तक तो आप उन सारी चीजों को clearly लिख लो एक बुक में इससे आपका कमेंट लेवल बढ़ जायेगा ! 
 
इसे आप छोटा ही पॉजिटिव स्टार्ट मिलेगा जो कई बार अपने goals को पूरा करने में हेल्प करने में बहुत इम्पोरेन्ट होता है ! और यह चीज आपको 6 Step को पूरा करने में हेल्प करेगा ! 

Step 6 – Read [ तैयार होना ] – 

जैसे मैंने आपको पहले ही Point में बताया की ज्यादातर लोग अपने Goals को पूरा नही कर पाते क्योकि उनका Desire Strong नही होता ! उनकी बस wishe होती है. इसीलिए जरुरी है. की आपका भी स्ट्रांग डिजायर बने की आपको अमीर बनना है ! जब तक यह डिजायर बहुत स्ट्रांग नही होगा। तब तक आपको सीखना मुस्किल होगा ! 

इसीलिए इस डिजायर को स्ट्रांग बनाने के लिए आता है, Step No – 6 जो है इन लिखी हुई चीजों को At Least 3 से 4 बार Read करना ! हर दिन अपने goals को याद करना आपको क्या चाहिए, आपको क्यों चाहिए वरना साल आएंगे साल चले जायेगे आपकी जिंदगी खत्म हो जायेगी लेकिन आपके गोल्स कभी भी पूरे नही हो पायेगे ! 

बस वह थे 6 importance of goal setting in hind जो बहुत ही सिंपल है ! लेकिन जो बहुत पावरफुल है। अपने किसी भी गोल्स को पूरा करने के लिए जाये वह बिज़नेस हो, या पैसे कमाने हो जो भी हो !

अब मै आपको उस मेथड के बारे में बताता हूँ जिसे आप कोई भी चीज जल्दी से जल्दी सीख सकते हो इस मेथड को नाम दिया है ! 
” The Fast Method “   

 

F – किसी भी नेगेटिव चीजों को भूलना 

आपको इसमें भूलना होगा सभी लिमिटेशन को उन नेगेटिव चीजों को जो आपके goals को पूरा करने में दिक्क्त करता है ! जैसे – कि अपने बिज़नेस कोचिंग नही की, बिज़नेस स्कूल में नही पढ़े, बिज़नेस मैनेजमेंट नही सीखे जिससे आपको लगता है ! कि आप कभी भी बिज़नेस नही कर पायेगे इसीलिए आपको इन सभी लिमिटेशन को भूलना होगा !

और यह सारी सोच आपको Confidence कभी भी नही बनने देगा ! और जब तक आप में कॉन्फिडेंस नही आयेगा तब तक आप कोई चीज सीख नही पायेगे इसीलिए सबसे पहले अपना कॉन्फिडेंस grow करो और नेगेटिव चीजों को भूलो !


A – एक्टिव रहना किसी भी चीज में 

फिर A स्टैंड करता है ! एक्टिव के लिए मतलब आप जब कुछ भी सीखो तो उसे जितना हो सके उसे एक्टिव होके सीखो न कि जैसा स्कूल में सिखाया जाता है बैठे कर इसीलिए जितना आप एक्टिव होके सीखोगे उतना अपने ब्रेन को यूज़ करोगे जितना Output दोगे उतना आप अच्छे से सीखोगे किसी भी चीज को ! 


S –  महसूस करना 

फिर S स्टैंड करता है. स्टेट पे आप कैसा feel करते हो सीखते टाइम अगर आपको किसी भी चीज को सिखाते समय बोर फील हो रहा होगा तो वह आपको याद नही होगा और न आप उस चीज में अच्छे बन पाओगे ! लेकिन आप खुश रहकर कुछ भी सीखोगे तो कुछ चीजे जल्दी आप सीखोगे और ज्यादा अच्छे से सीखोगे ! इसीलिए जितना हो सके उतना अपने इमोशन का यूज़ करो सीखने के लिए ! 


T – सीखना 

फिर लास्ट T स्टैंड करता है. टीच पे  मतलब आप जो कुछ भी सीखो तो वह सीखने के बाद किसी और को भी सिखाओ इससे आपके ब्रेन को वह चीज ज्यादा अच्छे से समझ में आयेगा ! अगर आपको कोई डाउट हो तो वह भी क्लियर हो जायेगा। आपका दिमाक ज्याद Active होगा। जिससे वह चीज ज्यादा याद भी रहेगा क्योकि टीच करना एक्चुअल में ज्यादा अच्छा एक्टिव मेथड है Learning के लिए!


आपको इसे भी पढ़ना चाहिए –

 

आज के इस Book Summary मैंने आपको 6 Importance of goal Setting in hindi  के बारे में बताया ! यह बहुत अच्छी बुक्स है ! जिसका नाम थिंक एंड ग्रो रिच [ Think And Grow Rich ] है !

अगर आपको इस बुक्स के और भी डिटेल्स जानना है ! तो मैं आपको लिंक नीचे दे देता हूँ मैंने जो गोल सेटिंग के बारे में आपको बताया आप अपने लाइफ में किसी भी तरह के गोल्स को पूरा करने के लिए इसे अप्लाई कर सकते है !

  1.  थिंक एंड ग्रो रिच बुक्स [ सोचिए और अमीर बनिये ]

इस आर्टिकल को पूरा एन्ड तक पढ़ने के लिए आपका बहुत – बहुत ध्यानवाद अगर इसमें किसी भी तरह की गलती हो या कोई टॉपिक छूट गया हो तो आप हमें कमेंट करके बता सकते है !

इस ब्लॉग में जो कुछ भी बिज़नेस से रिलेटेड आर्टिकल्स है वह सब आपके जानकारी के लिए है ! जिससे आपको बिज़नेस करने तथा बिज़नेस सीखने में कोई दिक्क्त न आये ! अगर यह आर्टिकल आपको अच्छा लग तो इसे अपने दोस्तों के साथ जरूर शेयर करे !

— थैंक्स फॉर रीडिंग —-

 

” इस दूनिया का सबसे बड़ा रोग  – मुझसे यह नही होगा “

Roshan kumar

मै इस ब्लॉग का संस्थापक हूँ। मुझे बिज़नेस स्किल्स, बिज़नेस बुक्स तथा स्टार्टअप बिज़नेस के बारे में सीखना अच्छा लगता है ! इसीलिए में इसकी जानकारी लोगो को हिंदी में देता हूँ। जिससे वह एक सक्सेसफुल बिज़नेस की शुरवात कर सके ! ❤

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: